Home Power Links Contact Us Hindi Site

टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, टिहरी में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया 67वां गणतंत्र दिवस

टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, टिहरी में 67वाँ गणतंत्र दिवस सीआईएसएफ के परेड ग्राउण्ड में धूमधाम से मनाया गया, महाप्रबन्धक(टीसी) श्री ओ.एस.मौर्या द्वारा झण्डा रोहण कर सीआईएसएफ के जवानों एवं स्कूली बच्चों द्वारा दी गई मार्च पास्ट परेड की सलामी ली गयी। तत्पश्चात महाप्रबन्धक(टी.सी.) ने उपस्थित सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों एवं जनसमुदाय को अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक का गणतंत्र दिवस शुभकामना संदेश पढ़ कर सुनाया। अपने सम्बोधन में महाप्रबन्धक(टी.सी.) ने कहा कि आज हमारा राष्ट्र 67 वाँ गणतंत्र दिवस मना रहा है। उन्होने सभी उपस्थित टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के कार्मिकों, स्कूली बच्चों एवं सीआईएसएफ के जवानों एवं स्थानीय नागरिकों को इस राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामना एवं बधाई दी एवं कहा कि 448 अनुच्छेदों के समावेशन के साथ हमारा संविधान विश्व के किसी भी अन्य संप्रभुत्व देश के संविधान से समृद्ध है। हमारा संविधान भारत को एक संप्रभुत्व, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित करता है और प्रत्येक नागरिक के लिए न्याय, समानता और स्वतंत्रता सुनिश्चित करता है तथा आपस में बंधुत्व को प्रोत्साहन देता है। साथियों हम देशवासियों का काम के प्रति सच्ची लग्न एवं प्रतिवद्धता देश के सुदृढ़ विकास और उन्नति का प्रमुख कारण है। आप सभी साथियों एवं स्थानीय जनता के सहयोग से विभिन्न परिस्थितियों का सामना कर टिहरी बॉध के प्रथम चरण के तहत 1000 मेगावाट एवं कोटेश्वर बॉध परियोजना से 400 मेगावाट विद्युत उत्पादन कर राष्ट्र को समर्पित किया है, जोकि देश को आवश्यकतानुसार विद्युत एवं सिंचाई के लिए जल, पीने के लिए पानी उपलब्ध करा रहा है।

 

 यह परियोजना बहुद्देशीय परियोजना होने के साथ मत्स्य पालन, टूरिज्म, बाढ़ नियंत्रण में भी अपनी अहम भ्wामिका निभा रही है। वर्तमान  में हरिद्वार में चल रहे अर्द्धकुम्भ के लिए टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड द्वारा टिहरी बॉध जलाशय से आवश्यकतानुसार अतिरिक्त पानी छोड़कर इस पण्य  कार्य में टिहरी बांध अह्म भूमिका निभा रहा है। ताकि अर्धकुम्भ में देश विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं को विभिन्न घाटों में स्नान हेतु पर्याप्त जल उपलबध हो सके। हम अपने देश एवं इस गृह राज्य उत्तराखण्ड के अनवरत विकास में अभूतपूर्व योगदान दे रहे हैं। टिहरी बॉध के द्वितीय चरण के तहत पीएसपी का कार्य भी प्रगति पर है जिसे आप सभी के सहयोग से समय पर पूर्ण किया जायेगा। उत्तराखण्ड राज्य के पास संचित जल-संसाधनों के अनेक अवसर है, जिनके समुचित दोहन से जल ऊर्जा उत्पन्न कर राष्ट्र को वांछित रूप से प्रकाशमान किया जा सकता है। हम देश की ऊर्जा मांग की पूर्ति के लिए अन्य ऊर्जा स्रोतों जैसे सौर ऊर्जा, ताप और पवन ऊर्जा के क्षेत्रों में भी अपना कदम तेजी से आगे बढ़ा रहे हैं। भारत सरकार की योजना के अन्तर्गत स्वच्छ भारत अभियान, डिजीटल इंडिया, स्किल इंडिया, मेक इन इंडिया के तहत चलाए जा रहें विभिन्न कार्यक्रमों में भी टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड अपनी भागीदारी अदा कर रहा है।

 

                

  इस परिपेक्ष में टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, टिहरी के विभिन्न विभागों द्वारा सराहनीय/विशिष्ट कार्य किये गये हैं जैसे-

 

1-      स्वच्छ भारत एवं ग्रीन इंडिया अभियान के तह्त गुणवत्ता एवं आश्वासन विभाग विश्वकर्मापुरम कोटी द्वारा अपने कार्यालय परिसर एवं आसपास विभिन्न विशिष्ट कार्य किये गये जिसमें सफाई, पेड़ लगाना, उपयोग में लायी जाने वाली सामग्री का उपयोग कर पार्क एवं सौन्दर्यकरण, कचरा सम्बर्धन का निस्तारण, उर्जा संरक्षण, कार्यालय परिसर के अन्दर खाली पडी जमीन पर फावडा

चलाओं कार्यक्रम की शुरूआत की गयी, जिसके अन्तर्गत प्रत्येक अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा खुदाई का कार्य किया गया, जिसमें पुष्प लगाकर पार्क के सौन्दर्यकरण किया गया। गुणवत्ता आश्वासन एवं इंस्पेक्शन विभाग के नाम का प्लेटफार्म पार्क के अन्दर बनाकर उसका सौन्दर्यकरण किया गया, इस पार्क के कोने में खुदाई से बची अवशेष मिट्टी का ढेर बनाकर उसमें पैधे लगाए गये और उसके चारों तरफ छोटे-छोटे पत्थरों द्वारा एक छोटे से पहाड की संरचना की गई इस छोटे से पहाड में विभिन्न प्रजातियों के पौधे लगाये गये है जो कि ऐसा प्रतीत होता है कि जैसे कि यह कोई पुराना स्थल हो। इनके द्वारा पर्यावरण के संरक्षण के लिए गढवाली भाषा में नारा दिया गया कि `` पेड बचावा, पहाड बचलू, पहाड बचलू देश बचलू` इसका तात्पर्य है कि पेडो को बचाए तो पहाड बचेगा एवं पहाड बचेगा तो देश बचेगा, यह नारा अपने आप में पर्यारण संरक्षण को प्रोत्साहित करता है यह कार्य महाप्रबंधक (टीसी) श्री ओ.एस. मौर्या के निर्देशन में गुणवत्ता आश्वासन के अधिकारी एवं कर्मचारियों द्वारा श्रमदान कर किया गया। 

 

2-      साथ ही टीएचडीसी चिकित्सालय के चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा चिकित्सालय के दोनों तरफ के भवनों के बीच में जहॉ से बन्दर अस्पताल के अन्दर जाते थे  जिससे चिकित्सालय के स्टाफ एवं मरीजो को परेशान एवं काटते थे, इस समस्या से निजात पाने के लिए चिकित्सालय के चिकित्सकों एवं पैरा मैडिकल स्टॉफ द्वारा उपयोग में लाये जाने वाले तारो का श्रमदान कर जाल बनाया गया, उक्त कार्य करने के उपरान्त बन्दर चिकित्सालय परिसर में नहीं सकते जिसके फलस्वरूप अब चिकित्सालय का स्टाफ अपना कार्य सुचारू रूप से करने के साथ मरीज भी बिना किसी भय के चिकित्सालय में चिकित्सकीय जांच करवाते हैं साथ ही चिकित्सकों अन्य स्टॉफ द्वारा चिकित्सालय में फूल पौधे लगाकर चिकित्सालय को हरा-भरा बनाकर सुन्दर बना दिया गया है यह सराहनीय कार्य डॉ0 प्रमोद कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी (प्रभारी) के दिशानिर्देशन में चिकित्सकों एवं पैरा मैडिकल स्टाफ द्वारा श्रमदान कर किया गया

 

3-      ग्रीन इंडिया के अन्तर्गत श्री कृष्णपाल सिंह बिष्ट, चालक, महाप्रबंधक (टीसी) कार्यालय द्वारा ग्रीन इंडिया के अन्तर्गत बांध क्षेत्र में 150 विभिन्न प्रजाति के वृक्षों का वृक्षारोपण किया गया, वृक्षों की व्यवस्था एवं वृक्षों के लिए जैविक खाद एवं उन पर होने वाले अन्य व्यय भी इनके द्वारा स्वयं किया गया श्री कृष्णपाल सिंह बिष्ट द्वारा ग्रीन इंडिया को बढावा देने पर्यावरण को शुद्ध बनाये रखने के लिए इनके द्वारा यह प्रशसनीय कार्य किया गया

                                                          

 इस अवसर पर स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुति दी गई, जिसमें गढ़वाली गीत एवं देश भक्ति के संगीत एवं नृत्य प्रस्तुत करने पर उपस्थित जन समुदाय मंत्रमुग्द्ध हो गया।

  

गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड द्वारा खेलकूद प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गई, जिसमें प्रतिभाग करने वाले प्रतिभागियों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले छात्र-छात्राओं एवं परेड तथा अन्य कार्यक्रमों में सी.आई.एस.एफ के जवानों को पुरस्कृत किया गया। साथ ही उपरोक्त स्वच्छ भारत अभियान, ग्रीन इंडिया के तहत सराहनीय/विशिष्ठ कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पुरस्कार स्वरूप प्रशसति पत्र प्रदान किये गये।

 

 दिनांक 18.12.2015 से 21.12.2015 तक  नेशनल कनवेन्शन ऑन क्वालिटी कंसेप्ट का आयोजन क्वालिटी सर्किल फोरम आफ इंडिया (क्यू.सी.एफ.आई.) के द्वारा एस.आर.एम. यूनिवर्सिटी चैन्नई में किया गया, जिसमें टीएचडीसी के विभिन्न विभागों की टीम द्वारा प्रतिभाग किया गया था, जिसमें ओ. एण्ड एम. विभाग की क्वालिटी सर्किल ऊर्जा द्वारा एन.सी.क्यू.सी. 2015 में बेहत्तरीन प्रदर्शन कर सर्वोत्तम सम्मान (पार Sक्सीलेंस अवार्ड ) प्राप्त किया गया। इस अवसर पर क्वालिटी सर्किल ऊर्जा  को पुरस्कार स्वरूप् प्रशसति पत्र प्रदान किये गये। गणतंत्र दिवस समारोह में सभी पुरस्कार एवं  प्रशसति पत्र महाप्रबन्धक(टी.सी.) श्री ओ.एस.मौर्या  तथा महाप्रबन्धक(स्टेज-प्रथम) श्री मुहर मणि द्वारा प्रदान किये गये।

 

 इस अवसर पर अपर महाप्रबन्धक/प्रभारी(पीएसपी) श्री के.पी.सिंह, अपर महाप्रबन्धक(का.एवं प्र.) श्री सी.मिन्ज, अपर महाप्रबंधक (गुणवत्ता आश्वासन/सी. एण्ड एम.एम./बी. एण्ड आर.) श्री जे.एल. नारंग, अपर महाप्रबन्धक (यॉत्रिक/नियोजन/पुनर्वास समन्वय)  श्री यू.के.ठाकुर, अपर महाप्रबंधक ( विद्युत) श्री के.एन. जोशी, अपर महाप्रबन्धक(ओ.एण्ड एम.) श्री एल.पी. जोशी, अपर महाप्रबन्धक(बॉध/स्पिलवे) श्री अतुल कपूर, उप कमाण्डेंट (सी.आई.एस.एफ.) श्री सुरेन्द्र कुमार, वरिष्ठ प्रबन्धक (का.एवं प्र.) डा. ए. एन. त्रिपाठी सहित बड़ी संख्या में विभिन्न अधिकारी/कर्मचारी एवं उनके परिवार  के सदस्य उपस्थित थे।

 

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited