Home Power Links Contact Us Hindi Site

कोटेश्‍वर हाइड्रो इलेक्‍ट्रिक प्रोजेक्‍ट में वित्‍तीय वर्ष 2015-16 की अंतिम हिंदी कार्यशाला

कोटेश्‍वर हाइड्रो इलेक्‍ट्रिक प्रोजेक्‍ट में वित्‍तीय वर्ष 2015-16 की अंतिम हिंदी कार्यशाला का शुभारम्‍भ श्री पी0के0 अग्रवाल, महाप्रबन्‍धक (परियोजना) द्वारा दीप प्रज्‍जवलित कर किया। कार्यशाला में परियोजना के विभिन्‍न इकाईयों के लगभग 35 कर्मचारियों ने भाग लिया।     मुख्‍य अतिथि, महाप्रबन्‍धक (परियोजना) ने अपने सम्‍बोधन में कहा कि राजभाषा मंत्रालय, भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप राजभाषा को बढावा देने हेतु विभागाध्‍यक्षों एवं नामित हिंदी नोडल अधिकारियों को दिए गए वार्षिक राजभाषा कार्यालय काम-काज के लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने हेतु अपने विभागों में और भी प्रयास करने की आवशयकता है। कार्यशाला में विभिन्‍न विभागों की राजभाषा काम-काज की समीक्षा पर चर्चा की गई।

कार्यशाला में विशेष रूप से आमंत्रित संकाय प्रतिनिधि डॉ0संजीव नेगी, विभागाध्‍यक्ष (हिंदी), राजकीय स्‍नातकोत्‍तर महाविद्यालय नई टिहरी तथा श्रीमती भारती डिंमरी, उप प्रबन्‍धक (हिंदी), टीएचडीसी इंडिया लि0 टिहरी द्वारा कार्यशाला में प्रतिभाग करने वाले कर्मचारियों को हिंदी भाषा के विकास का इतिहास एवं प्रत्‍येक युग में हिंदी की स्‍थिति पर समीक्षा तथा वर्तमान में राजभाषा हिंदी के रूप में स्‍थिति का आंकलन डॉ0 संजीव नेगी द्वारा बताया गया तथा भाषा के प्रयोग में शब्‍द का चयन एवं प्रयोग विधि श्रीमती भारती डिंमरी द्वारा बताई गई।

श्री सीमांत पंत, उप महाप्रबन्‍धक (का0एवंप्रशा0) ने कार्यशाला को सफल बनाने हेतु धन्‍यवाद दिया एवं कार्यशाला का संचालन श्री गिरीश उनियाल,वरिष्‍ठ विधि अधिकारी द्वारा किया गया।

कार्यशाला में श्री आर0एस0 नेगी, वरिष्‍ठ प्रबन्‍धक (विधि), श्री एस0के0 बडोनी, प्रबन्‍धक (विधि), श्री धर्मपाल सिंह त्‍यागी, उप प्रबन्‍धक (तकनीकी सचिव, महाप्रबन्‍धक), श्री आर0डी0 ममगाईं, वरिष्‍ठ जनसम्‍पर्क अधिकारी, श्री कुन्‍दन सिंह मेहता, वरिष्‍ठ हिंदी अधिकारी, श्री एस0पी0 उनियाल, कनिष्‍ठ अधिशासी, श्री दुर्गा प्रसाद बिजल्‍चाण, सहायक आदि उपस्‍थित थे।

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited