Home Power Links Contact Us Hindi Site

हिंदी कार्यशाला रिपोर्ट –टिहरी

टिहरी कार्यालय में हिंदी अनुभाग कार्मिक एवं प्रशासन,विभाग द्वारा अधिकारियों/कर्मचारियों के लिए दिनांक  23.06.2016 को एक दिवसीय हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया। हिंदी कार्यशाला का संचालन करते हुए श्री इन्द्र राम नेगी,उप प्रबंधक, (हिंदी) ने उपस्थित मुख्य अतिथि श्री सी मिंज, अपर महाप्रबंधक (का.एवं प्र.), श्री सी वी दुबे, वरिष्ठ प्रबंधक (का.एवं प्र.),कारपोरेट कार्यालय,ऋषिकेश से आमंत्रित संकाय सदस्य श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव, वरिष्ठ प्रबंधक (हिंदी) एवं सभी प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए कार्यशाला की महत्वता पर प्रकाश डाला । कार्यशाला का  शुभारंभ श्री सी.मिंज अपर महाप्रबंधक (का.एवं प्र.) द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

मुख्य अतिथि श्री मिंज ने हिंदी कार्यशाला का उदघाटन करते हुए  अपने  संबोधन में इस बात पर विशेष बल दिया कि पहले अंग्रेजी को पढ़े-लिखे की निशानी समझा जाता था । लेकिन अब हिंदी के  प्रचलन का दौर शुरू हो चुका है । हम सभी ‘क’ क्षेत्र में आते हैं और सभी को हिंदी का कार्यसाधक ज्ञान प्राप्त है । इसलिए हम सुनिश्चित करें कि अपने समस्त कार्य हिंदी में ही  करें। हिंदी का  महत्व दिन- प्रतिदिन बढ़ता  जा रहा है । उन्होने  सरकारी काम-काज में हिंदी के प्रयोग की व्यावहारिकता पर विशेष ध्यान देने की जरूरत पर बल दिया । हम लोग हिंदी भाषा–भाषी हैं । सब लोगों के हिंदी का ज्ञान अपेक्षित स्तर का है किन्तु सरकारी काम-काज में हिंदी का प्रयोग करने में झिझकते हैं। आगे उनका मानना था कि इस तरह के आयोजनों के माध्यम से ही  झिझक/हिचक को दूर करने का प्रयास किया जाएगा।  

कार्यशाला में आमंत्रित संकाय सदस्य श्री ए.के. श्रीवास्तव, वरिष्ठ प्रबंधक, हिंदी टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, ऋषिकेश ने  प्रथम सत्र के दौरान पत्राचार के विभिन्न प्रारूपों एवं टिप्पणी लेखन की बारीकियों के बारे में बताया एवं कार्यशाला के दौरान अभ्यास भी कराया।

श्री इन्द्र राम नेगी, उप-प्रबंधक (हिंदी) द्वारा दूसरे सत्र के दौरान हिंदी के संवैधानिक स्वरूप को बहुत ही प्रभावशाली तरीके से प्रस्तुतीकरण के माध्यम से समझाया एवं वार्षिक कार्यक्रम 2016-17 के बारे में विस्तृत जानकारी दी   एवं दिन प्रतिदिन के कार्यों में हिंदी के प्रयोग में आने वाली रुकावटों का हल भी बताया ।

कार्यशाला में टीएचडीसी के 22 अधिकारियों/कर्मचारियों ने भाग लिया। इस अवसर पर उन्हें हिंदी अनुभाग की ओर से हिंदी साहित्य की पुस्तकें एवं बैग भी वितरित किए गए।

समापन अवसर पर श्री नेगी ने पुनः सभी प्रतिभागियों, सहयोगियों एवं संकाय सदस्य का आभार व्यक्त किया एवं यह अपेक्षा की कि सभी प्रतिभागी हिंदी कार्यशाला में प्रशिक्षण के बाद प्रतिदिन उचित मात्रा में हिंदी में कार्य करेंगे

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited