Home Power Links Contact Us Hindi Site

टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड द्वारा टिहरी में आपदा राहत शिविर का आयोजन
प्रेस विज्ञप्ति

उत्तराखंड में बादल फटने और भारी वर्षा के परिणामस्वरूप उत्पन्न भीषण आपदा से प्रभावित  चार-धाम यात्रा के तीर्थयात्रीयों और स्थानीय लोगों की सहायता के लिए टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड ने कारगर कदम उठाते हुए 19 जून, 2013 से याँत्रिक वर्कशॉप, कोटी कॉलोनी, टिहरी में आपदा राहत कैम्प लगाया हैं।  यह राहत शिविर जो अभी भी चल रहा है।

इस शिविर में गुप्तकाशी में फंसे हुए असहाय दस हजार (10,000) से भी अधिक तीर्थयात्रियों, जिन्हें टिहरी होते हुए बाहर निकला गया राहत पहुंचाई गई , उनके लिए भोजन, चिकित्सा सहायता और दवाइयां उपलब्ध कराई गयीं। जो तीर्थयात्री ऋषिकेश जाने की जल्दी में थे, उन्हें भोजन के पैकेट्स बांटे गये। शिविर में उनके ठहरने की व्यवस्था की गयी। साथ ही विभिन्न स्थानों पर पर अटके हुए तीर्थयात्रियों के बचाव के लिए जिला प्रशासन को 05 बसें, 10 छोटी गाड़ियाँ एवं 04 पानी के टैंकर उपलब्ध करवाये गये। तीर्थयात्रियों एवं स्थानीय लोगों के सुगम पारगमन हेतु भी टीएचडीसी ने जिला प्रशासन को भारी भूस्खलन की सफाई के लिए भारी अर्थमूविंग मशीनें उपलब्ध करवाकर सहायता की।

इसके अतिरिक्त जिला प्रशासन को घनसाली, जिला टिहरी में असहाय तीर्थयात्रियों एवं प्रभावित ग्रामों में वितरित करने हेतु 1,400 लीटर दूध भी उपलब्ध करवाया गया। 4-5 दिनों से भोजन एवं चिकित्सा सुविधाओं से वंचित तीर्थयात्रियें , जिन्होंने राहत शिविर में इन सुविधाओं का लाभ उठाया, ने टीएचडीसी द्वारा इस व्यापक राहत के आयोजन में की गई व्यवस्थाओं की सराहना की। प्रशासन ने भी इस गंभीर स्थिति में टीएचडीसी द्वारा उपलब्ध कराई गई सहायता और राहत की सराहना की।

यहां यह उल्लेखनीय है कि टिहरी बांध जलाशय हरिद्वार, ऋषिकेश जैसे मैदानी इलाको में एक वरदान सिद्ध हुआ है क्योकि  16-17 जून 2013 को हुई भयंकर वर्षा बादल फटने के फलस्वरूप  भागीरथी का जलप्रवाह लगभग 7,000 क्यूमेक्स था। इसमें से केवल 500 क्यूमेक्स जल टिहरी जलाशय से छोंडा गया और 6500 क्यूमेक्स जलाशय में रोका गया। यदि इतना जल जलाशय में ना रोका जाता तो मैदानी इलाको में भारी तबाही होती। टिहरी कोटेश्वर परियोजना से बिजली का भरपूर उत्पादन जारी रहा क्योकि यहां सिल्ट की समस्या नही है जैसा कि अन्य परियोजना में इसके फलस्वरूप उत्पादन नही हो सका।

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited