Home Power Links Contact Us Hindi Site

सीएसआर के अन्तर्गत चमियाला (वेलेश्वर) में नेत्र रोग जांच चिकित्सा शिविर समपन्न।

     सेवा-टीएचडीसी के तत्वाधान में निर्मल आईइस्टीट्यूट ऋषिकेश के सहयोग से भिंलगना ब्लाक चमियाला, वेलेश्वर में एक नेत्र चिकित्सा शिविर का आयोजन दिनांक 19 फरवरी 2014 को किया गया। उपरोक्त संस्था के साथ सेवा-टीएचडीसी के माध्यम से अब तक 05 नेत्र शिविर रिम एरिया में आयोजित किये जा चुके है।

     कारपोरेट सामाजिक दाियत्व इकाई टिहरी से जनसम्पर्क अधिकारी श्री यतबीर सिंह चौहान, निर्मल आई इ. ऋषिकेश से संजय बर्तवाल, बी.एस.विष्ट एवं अन्य चिकित्सा स्टाप मेजूद थे। नेत्र शिविर के दौरान 272 मरीजो के नेत्रों की जांच की गयी, जिनमें 96 मरीजों को आंख की शल्य चिकित्सा के लिए चमियाला से निर्मल आश्रम आई इस्टीट्यूट ऋषिकेश को बस के माध्यम के लिए ले जाया गया। शिविर में आये अन्य मरीजों को दवाईयां और आंख के चश्मे भी निःशुल्क दिये गये। आंख की शल्य चिकित्सा के उपरान्त मरीजों को दो दिन बाद वापिस गन्तव्य में छोड़ा गया।

     कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणों को चिकित्सको ने सकांमक रोग एड्स के बारे में जानकारी दी गयी, इसके साथ-साथ ग्रामीणों को अधोहस्ताक्षरी ने सेवा-टीएचडीसी के माध्यम से रिम एरिया में चलाये जा रहे  विभिन्न कार्यों की जानकारियां दी गयी। ग्रामीणों ने बताया कि इस क्षेत्र में खेती तो अच्छी होती है लेकिन उन्नत तकनीकी और कार्यो की सही जानकारी मिलने के कारण ग्रामीण समूचित लाभ नहीं ले पा रहे है, इस ओर उन्होंने टीएचडीसी से सहयोग की अपेक्षा, महिला और युवाओं ने कम्प्यूटर प्रशिक्षण और सिलाई सेन्टर संचलान के लिए भी अनुरोध किया।

     नेत्र जांच शिविर में मयकोट, तुगाणा, सिमार, लसियाल गांव, खगवाणा, बूढ़ाकेदार, सिल्यारा, कोट, चानी, डागी, क्वीडांग, छतियाड़ा, बांसू, श्रीकोट, गढ़ोलिया, दल्ला, घरका, रगड़ी, अणुवा, सुनारगांव, गोनगढ़, आरस, भटगांव, पौन्डा, चौठाणा, आखोड़ी, लोदर एंव नैलचामी के आस-पास के गांव से ग्रामीण बड़ी संख्या में आये।

    मरीजो के शल्य चिकित्सा एवं टिहरी से ऋषिकेश और गन्तव्य तक का व्यय सेवा-टीएचडीसी के अन्तर्गत किया जा रहा है। अखोड़ी क्षेत्र से आये ग्रामीणों ने अपने क्षेत्र के लोगो के लिए इसी तरह का एक शिविर आयोजित किये जाने की मांग की।

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited