Home Power Links Contact Us Hindi Site

एक दिवसीय हिंदी कार्यशाला का आयोजन

कारपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश में हिंदी अनुभाग (का.एवं प्रशा.) के सौजन्य से ऋषिकेश, कार्यालय के गैर-कार्यपालकों हेतु दि. 30.05.2014 को एक दिवसीय हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन मुख्य अतिथि श्री एस.के.अग्रवाल, महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.) ने किया। इस अवसर पर कार्यक्रम का संचालन कर रहे श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव, वरि. प्रबंधक (हिंदी) ने पुष्प गुच्छ भेंट कर मुख्य अतिथि का स्वागत किया। महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.) ने कार्यशाला में अतिथि वक्‍ता के रूप में आमंत्रित डॉ. एम.आर.सकलानी, उप निदेशक (राजभाषा), आयकर विभाग, देहरादून को पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया । मुख्य अतिथि ने अपने आशीष वचनों के साथ कार्यशाला का शुभारंभ किया । उन्‍होंने अपने संबोधन में कहा कि किसी भी लक्ष्‍य की प्राप्‍ति के लिए तीन चीजें अर्थात संघर्ष, सेवा और निर्माण अति आवश्‍यक है। हिंदी बहुत ही सरल एवं सुबोध भाषा है परन्‍तु फिर भी अधिकारी इसके प्रयोग में हिचकिचाहट महसूस करते हैं, इसका सामना करते हुए सेवा और समर्पण भाव से इसका उत्‍थान कर नव निर्माण की ओर अग्रसर होना चाहिए।

हिंदी कार्यशाला का शुभारंभ होने के बाद अतिथि वक्‍ता डॉ. एम.आर.सकलानी ने भोजनावकाश से पूर्व दो सत्रों में व्याख्यान दिया। प्रथम सत्र में डॉ. सकलानी ने प्रतिभागियों को राजभाषा नीति, नियम, अधिनियम एवं पत्राचार के बारे में जानकारी दी। दूसरे सत्र में उन्होंने पत्राचार तथा अनुवाद के बारे में प्रतिभागियों का मार्गदर्शन किया। इन विषयों के बारे में प्रतिभागियों ने बड़ी संख्या में प्रश्न पूछकर अपना ज्ञानवर्धन किया।

कार्यशाला के भोजनावकाश के बाद श्री अशोक कुमार श्रीवास्‍तव, वरि.प्रबंधक (हिंदी) ने प्रथम सत्र में तिमाही रिपोर्ट भरने एवं राजभाषा विभाग द्वारा दिए गए वार्षिक कार्यक्रम के लक्ष्‍य के बारे में जानकारी दी, जिसके बारे में प्रतिभागियों ने काफी उत्सुकता से प्रश्न पूछकर अपना ज्ञानवर्धन किया। दूसरे सत्र में श्री श्रीवास्‍तव ने प्रतिभागियों को टिप्‍पण एवं आलेखन की जानकारी दी। उन्‍होंने प्रतिभागियों से इस संबंध में अभ्‍यास भी कराया।

हिंदी कार्यशाला में 27 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। सभी प्रतिभागियों को हिंदी कार्यशाला में प्रतिभागिता करने हेतु प्रमाण पत्र प्रदान किए गए। उन्हें इस अवसर पर हिंदी की साहित्यिक पुस्तकें भी वितरित की गई। अंत में कार्यशाला का समापन करते हुए वरि.प्रबंधक(हिंदी), श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव ने सभी प्रतिभागियों का आभार व्यक्‍त किया ।

 

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited