Home Power Links Contact Us Hindi Site

हिंदी कार्यशाला का आयोजन

हिंदी कार्यशाला का आयोजन

कारपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश में हिंदी अनुभाग (का.एवं प्रशा.) के सौजन्य से ऋषिकेश, कार्यालय के ई-2 से ई-5 स्‍तर के कार्यपालकों के लिए दि. 05.08.2014 को एक दिवसीय हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन मुख्य अतिथि श्री सी.मिन्‍ज, अपर महाप्रबंधक (का.-भर्ती एवं औ.सं. एवं हिंदी प्रभारी) ने किया। इस अवसर पर कार्यक्रम का संचालन कर रहे श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव, वरि. प्रबंधक (हिंदी) ने पुष्प गुच्छ भेंट कर मुख्य अतिथि का स्वागत किया। अपर महाप्रबंधक (का.-भर्ती एवं औ.सं. एवं हिंदी प्रभारी) ने कार्यशाला में अतिथि वक्‍ता के रूप में आमंत्रित डॉ. बुद्धिनाथ मिश्र, पूर्व मुख्‍य प्रबंधक (राजभाषा), ओएनजीसी, देहरादून को पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया । मुख्य अतिथि ने अपने आशीष वचनों के साथ कार्यशाला का शुभारंभ किया । उन्‍होंने अपने संबोधन में कहा कि ई-2 से ई-5 स्‍तर के कार्यपालकों के लिए यह कार्यशाला बहुत उपयोगी सिद्ध होगी। चूंकि, कार्यालय में अधिकांश पत्राचार कार्य प्रारंभिक रूप से इसी स्‍तर से शुरू किया जाता है अत: अगर इस स्‍तर से पत्राचार के प्रारूप हिंदी में तैयार किए जाएं तो हिंदी के प्रोत्‍साहन को काफी बढ़ावा मिल सकता है। उन्‍होंने यह भी कहा कि हिंदी की बढ़ोत्‍तरी के लिए हमें अंग्रेजी में काम करने की अपनी मानसिकता को बदलना होगा।   

 

हिंदी कार्यशाला का शुभारंभ होने के बाद अतिथि वक्‍ता डॉ. बुद्धिनाथ मिश्र ने अपने काव्‍य पाठ के माध्‍यम से हिंदी कार्यशाला के माहौल को हल्‍का बनाते हुए भोजनावकाश से पूर्व दो सत्रों में व्याख्यान दिया। प्रथम सत्र में डॉ. मिश्र ने प्रतिभागियों को हिंदी पत्राचार तथा अनुवाद के बारे में जानकारी दी। दूसरे सत्र में उन्होंने लिपि, वर्तनी एवं मानक शब्‍दावली के बारे में प्रतिभागियों का मार्गदर्शन किया। इन विषयों के बारे में प्रतिभागियों ने बड़ी संख्या में प्रश्न पूछकर अपना ज्ञानवर्धन किया।

 

कार्यशाला के भोजनावकाश के बाद श्री अशोक कुमार श्रीवास्‍तव, वरि.प्रबंधक (हिंदी) ने प्रथम सत्र में राजभाषा नीति, नियम एवं अधिनियम के बारे में जानकारी दी, जिसके बारे में प्रतिभागियों ने काफी उत्सुकता से प्रश्न पूछकर अपना ज्ञानवर्धन किया। दूसरे सत्र में श्री श्रीवास्‍तव ने प्रतिभागियों को तिमाही रिपोर्ट भरने एवं राजभाषा विभाग द्वारा जारी किए गए वार्षिक कार्यक्रम के लक्ष्‍य के बारे में जानकारी दी । उन्‍होंने प्रतिभागियों से इस संबंध में अभ्‍यास भी कराया।

 

हिंदी कार्यशाला में 31 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। उन्हें इस अवसर पर हिंदी की साहित्यिक पुस्तकें भी वितरित की गई। अंत में कार्यशाला का समापन करते हुए वरि.प्रबंधक(हिंदी), श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव ने सभी प्रतिभागियों का आभार व्यक्‍त किया ।

 

 

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited