Home Power Links Contact Us Hindi Site

एकल काव्‍य पाठ प्रतियोगिता का आयोजन

टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के कारपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश में हिंदी अनुभाग (का.एवं प्रशा.) के सौजन्य से दिनांक 12.12.2014 को टीईएस हाईस्‍कूल के विद्यार्थियों के लिए एकल काव्‍य पाठ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । इस प्रतियोगिता में टीईएस हाईस्‍कूल की कक्षा 6 से 9 के विद्यार्थियों ने प्रतिभागिता की। जिनमें कक्षा -7 की छात्रा, कु. रिया शर्मा - प्रथम, कक्षा-7 की ही कु. खुशबू- द्वितीय एवं कक्षा-8 की छात्रा कु. बरखा- तृतीय रही। इनके अतिरिक्‍त 05 विद्यार्थियों को सांत्‍वना पुरस्‍कार प्रदान किए गए। प्रतिभागिता करने वाले सभी विद्यार्थियों को स्‍मृति चिन्‍ह प्रदान किए गए। कार्यक्रम की अध्‍यक्षता कर रहे टीएचडीसी इंडिया लि. के महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.), श्री एस.के.अग्रवाल ने सभी विजेता विद्यार्थियों को अपने कर-कमलों से पुरस्‍कृत किया । इस प्रतियोगिता में 31 विद्यार्थियों ने प्रतिभागिता की।

 

कार्यक्रम का संचालन कर रहे वरि.प्रबंधक (हिंदी), श्री अशोक कुमार श्रीवास्‍तव ने अध्‍यक्ष महोदय, निर्णायक मंडल के सदस्‍यों और उपस्‍थित प्रतिभागी विद्यार्थियों तथा उनके अध्‍यापकों का स्‍वागत करते हुए कार्यक्रम की रूप रेखा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस प्रकार की प्रतियोगिता का उद्देश्‍य विद्यार्थियों की गायन प्रतिभा को एक मंच प्रदान करना तथा हिंदी के प्रचार-प्रसार के अभियान में विद्यार्थियों को शामिल करना है ।

 

उप प्रबंधक(हिंदी), श्री इन्‍द्र राम नेगी ने कार्यक्रम की अध्‍यक्षता कर रहे महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.), श्री एस.के.अग्रवाल का पुष्‍प गुच्‍छ भेंट कर स्‍वागत किया । महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.), श्री एस.के.अग्रवाल ने कार्यक्रम में निर्णायक मंडल के सदस्‍य के रूप में उपस्‍थित संगीत विशेषज्ञ /अध्‍यापक, डॉ. मनोहर प्रसाद जोशी तथा श्री सुनील थपलियाल, अध्‍यापक, भरत मंदिर इंटर कॉलेज, ऋषिकेश का पुष्‍प गुच्‍छ भेंट कर स्‍वागत किया।

 

विद्याथियों ने अपनी प्रस्‍तुतियों से सबको मंत्रमुग्‍ध कर दिया। सभी प्रतिभागियों एवं उपस्‍थित दर्शकों ने करतल ध्‍वनि से विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाया। महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.) ने अपने संबोधन में हिंदी अनुभाग के इस अभिनव प्रयास की सराहना की । उन्‍होंने सभी प्रतिभागी विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम में बच्‍चों ने काफी अच्‍छा आत्‍मविश्‍वास दिखाते हुए अपनी रचनाएं प्रस्‍तुत की हैं जिसके लिए बच्‍चे, उनके अभिभावक तथा उनके अध्‍यापक बधाई के पात्र हैं । उन्‍होंने सभी बच्‍चों को आत्‍मविश्‍वास बढ़ाने के गुर भी बताए ।

 

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited