Home Power Links Contact Us Hindi Site

नेपाल के माननीय पूर्व प्रधानमंत्री श्री शेर बहादुर देउबा द्वारा टिहरी बॉध का भ्रमण

दिनांक 01.08.2015 को नेपाल के माननीय पूर्व प्रधानमंत्री श्री शेर बाहदुर देउबा एवं उनकी धर्म पत्नी श्रीमती आरजू राणा देउबा टिहरी बॉध के भ्रमण  हेतु टिहरी पहुचे। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, टिहरी के भागीरथीपुरम अतिथि गृह पहुचने पर टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के महाप्रबन्धक((टी.सी.) श्री आर.एस.मेहरोत्रा, महाप्रबन्धक(क्यू.ए.एण्ड आई./सुरक्षा) श्री ओ.एस. मौर्या, महाप्रबन्धक(स्टेज-प्रथम) श्री मुहर मणि द्वारा गुलदस्ता प्रदान कर उनका स्वागत किया गया। तत्पश्चात माननीय पूर्व प्रधानमंत्री, नेपाल श्री शेर बहादुर देउबा टीएचडीसी के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ टिहरी बॉध के विभिन्न स्थलों का भ्रमण करने गये। टिहरी बॉध के व्यू प्वांइट पहुचने पर अपर महाप्रबन्धक(नियोजन/यॉत्रिक) श्री यू.के.ठाकुर द्वारा बॉध निर्माण एवं स्पिलवे तथा टिहरी जलाशय के बारे में मानचित्र के माध्यम से जानकारी दी। तत्पश्चात माननीय पूर्व प्रधानमंत्री सह पत्नी टिहरी बॉध के भूमिगत पावर हाउस पहुचे। महाप्रबन्धक(टी.सी.) एवं महाप्रबन्धक(स्टेज-प्रथम) श्री मुहर मणि तथा अपर महाप्रबन्धक(ओ.एण्ड एम.) श्री एल.पी.जोशी द्वारा भूमिगत पावर हाउस निर्माण, संचालन विद्युत उत्पादन सम्बन्धी विभिन्न पहलुओं की विस्तृत जानकारी माननीय को प्रदान की गयी। टिहरी बॉध निर्माण के विभिन्न कार्य स्थलों के भ्रमण के दौरान उन्होंने टिहरी बॉध से हुए पुनर्वास विस्थापन की जानकारी भी ग्रहण की।

 

तत्पश्चात टिहरी बॉध के विभिन्न कार्य स्थलों का भ्रमण कर वे अतिथि गृह पहुचे। अतिथि गृह के सभा कक्ष में टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के द्वारा टिहरी बॉध का प्रस्तुतिकरण भी दिया गया। अपर महाप्रबन्धक(नियोजन/यॉत्रिक) श्री यू.के. ठाकुर द्वारा बॉध निर्माण एवं पुनर्वास स्थलों की जानकारी  स्लाइड  शो के माध्यम से प्रदान की। माननीय पूर्व प्रधानमंत्री, नेपाल एवं उनकी पत्नी द्वारा टिहरी बॉध निर्माण की सराहना की गई एवं उनके द्वारा कहा गया कि यह स्थान बहुत सुन्दर है। टिहरी झील देश के चुन्निदा  स्थानों में से एक है। अतिथि गृह की आगन्तुक पुस्तिका में उनके द्वार उल्लेख किया गया है किः It was  very interesting to visit the project and Dam site, was impressed by the  technology and unique engineering works. Thank you for the hospitality.

 

उनका मुख्य उद्देश्य भारत नेपाल के बीच काली नदी पर संयुक्त रूप से बनाए जा रहे पंचेश्वर बॉध निर्माण हेतु जानकारी जुटाना था। इस अवसर पर टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के अपर महाप्रबन्धक(का.एवं प्र.) श्री सी.मिन्ज, अपर महाप्रबन्धक(विधि एवं पुनर्वास समन्वय) श्री डी.एस.कुन्डू, अपर महाप्रबन्धक(पा.हा.) श्री जे.एल.नारंग तथा कोटेश्वर हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट के परियोजना प्रभारी श्री पी.के. अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited