Home Power Links Contact Us Hindi Site

दीनगांव प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हेतु सेवा-टीएचडीसी द्वारा एम्बुलेंस सेवा

आज दिनांक 12.08.2015 को टीएचडीसी के निदेषक तकनीकी श्री डी0वी0 सिंह एवं निदेषक कार्मिक श्री एस0के0 विष्वास द्वारा संयुक्त रूप से झन्डा दिखाकर एम्बुलेंस को ऋशिकेष कार्यालय से दीनगाँव, प्रतापनगर ब्लॉक स्थित एवं सेवा-टीएचडीसी द्वारा संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र/ऐलोपैथिक अस्पताल हेतु रवाना किया गया।

 

उल्लेखनीय है कि टीएचडीसी द्वारा सामाजिक दायित्व के तहत 12 गाँव के निवासियों को त्वरित स्वास्थ्य लाभ हेतु उक्त एम्बुलेंस सेवा प्राथममिक स्वास्थ्य केन्द्र, दीनगांव में उपलब्ध रहेगी। उक्त ऐम्बूलेंस सेवा आपातकालीन परिस्थितियों  में मरीजों को उनके निवास से सेवा-टीएचडीसी संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र/ऐलोपैथिक अस्पताल तक पहुँचाने का कार्य करेगी तत्पष्चात् गम्भीर बिमारियों के निराकरण हेतु मरीजों को 108 ऐम्बूलेंस सेवा के सहायता से सरकारी अस्पताल तक पहुँचाया जायेगा।

 

इस अवसर पर निदेषक (तकनीकी) श्री सिंह द्वारा ऐलान किया गया कि टीएचडीसी बाँध प्रभावित क्षेत्र के उत्थान के लिए निरन्तर प्रयत्न करती रहेगी। निदेषक (कार्मिक) श्री विष्वास ने भी सामाजिक दायित्व के तहत चलने वाले कार्यो के निरन्तर निगरानी पर बल दिया जिससे कि कार्यक्रमों का लाभ समाज के सभी व्यक्तियों को सही मायने में मिल सके।

 

विदित हो कि टीएचडीसीआईएल द्वारा सेवा-टीएचडीसी के माध्यम से टीएचडीसी बाँध परियोजना से प्रभावित जिला टिहरी एवं उत्तरकाषी के 08 ब्लॉक में सामाजिक दायित्व के अन्तर्गत  स्वास्थ्य, षिक्षा, कृशि, महिला सषक्तिकरण, व्यवसायिक प्रषिक्षण, बुनियादी सुविधाओं, खेलकूद एवं ग्रामीण विकास से सम्बन्धित कार्यक्रमों को वित्तीय वर्श 2007-08 से लगातार चलाती रही है। जिसका लाभ वहाँ के निवासियों को दीर्घकालिक रूप से मिल रहा है।

 

विगत 03 वर्शो से बाँध प्रभावित क्षेत्र के निवासियों को  सेवा-टीएचडीसी द्वारा बुनियादी स्वास्थ्य सेवाऐं मुहैया कराने की दिषा में लगातार प्रयास किया जा रहा है। जिसके अन्तर्गत दीर्घकालिक लाभ को देखते हुए एक एलोपैथिक अस्पताल एवं 03 होम्योपैथिक डिस्पेंसरी क्रमषः दीनगाँव, धोंतरी, पोखरी एवं कोटेष्वर बाँध क्षेत्र में चलाये जा रहे हैं। उक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र/ ऐलोपैथिक अस्पताल के माध्यम से अभी तक 45 गाँवों के लगभग 13000 रोगियों का ईलाज किया जा चुका है। जबकि होम्योपैथिक डिस्पेंसरी के माध्यम से प्रतिमाह लगभग 3500 मरीजों का ईलाज मुफ्त किया जा रहा है। इस अतिरिक्त पिछले 02 वित्तीय वर्शो में निर्मल आई संस्थान ऋशिकेष एवं सेवा-टीएचडीसी द्वारा एक अनुबन्ध के तहत बाँध प्रभावित क्षेत्रों के निवासियों के आँख की सर्जरी तथा अन्य बीमारियों के ईलाज हेतु मल्टीस्पेषियलिटी स्वास्थ्य षिविरों का संचालन किया जा रहा है। जिसके माध्यम से अब तक लगभग 08 हजार मरीजों को लाभ पहुँचाया जा चुका है।

       

उक्त ऐम्बूलेंस सेवा के उदघाटन के अवसर पर श्री एस0आर0 मिश्रा, महाप्रबन्धक (सामाजिक एवं पर्यावरण), श्री एच.एल. भारज, अध्यक्ष सेवा-टीएचडीसी एवं ऋशिकेष के साथ ही सभी विभागाध्यक्ष सामाजिक एवं पर्यावरण विभाग एवं सेवा-टीएचडीसी के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited