नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, टिहरी की 10वीं बैठक संपन्न

 नराकास, टीएचडीसीआईएल, टिहरी की 10वीं अर्द्धवार्षिक बैठक अतिथिगृह, भागीरथीपुरम,टिहरी में दिनांक 23 .01.2017 को अध्यक्ष, नराकास, श्री पी.पी.एस. मान, कार्यपालक निदेशक, (टीसी) की अध्यक्षता में संपन्न हुई.  निगम की उभरती हुई छवि एवं प्रतिष्ठा को देखते हुए राजभाषा विभाग ने नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, टिहरी की बैठक के आयोजन तथा अध्यक्षता की जिम्मेदारी टीएचडीसीआईएल, टिहरी को सौंपी है. जिसे टीएचडीसीआईएल बखूबी निभा रहे हैं.

 

 

बैठक की कार्यवाही टीएचडीसीआईएल के टॉप टैरिस अतिथिगृह,भागीरथीपुरम  परिसर में स्थित सम्मेलन कक्ष में अपने निर्धारित समय पर प्रारंभ हुई.  बैठक की अध्यक्षता टीएचडीसीआईएल, टिहरी के कार्यपालक निदेशक, श्री पी.पी.एस. मान द्वारा किया गया.  विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित श्रीमती प्रतिभा मलिक, उप निदेशक (कार्यान्वयन) क्षेत्रीय कार्यान्वयन कार्यालय (उत्तर), राजभाषा विभाग, गाजियाबाद , टीएचडीसीआईएल, के अपर महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.), श्री सी. मिंज. तथा नराकास टिहरी के सचिव उप-प्रबंधक (हिंदी),श्री इन्द्र राम नेगी तथा नराकास के सदस्य कार्यालय के कार्यालय प्रमुख एवं पुरस्कार विजेताओं  के स्वागत सम्मान के साथ दीप प्रज्ज्वलित कर एवं सरस्वती वंदना के साथ बैठक प्रारंभ की गई.

 

 

इस बैठक में नराकास के अंतर्गत आने वाले केंद्रीय सरकार के विभिन्न कार्यालयों, बैंको एवं सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों/ स्वायत्त निकायों के प्रमुख/ प्रतिनिधि सदस्य के रूप में उपस्थित हुए जिनकी संख्या लगभग 25 थी.

      

 

बैठक की कार्यवाही को आगे बढ़ाते हुए सचिव, नराकास, श्री इन्द्र राम नेगी ने सभी उपस्थित सुधीजनों का स्वागत करते हुए अपने संबोधन में सभी कार्यालयों से राजभाषा कार्यान्वयन को अपने-अपने कार्यालयों में प्रभावी ढंग से लागू करने हेतु अपेक्षा की.  तत्पश्चात, श्री नेगी  ने सभी कार्यालयों से प्राप्त छमाही रिपोर्ट के आंकड़ों को प्रस्तुतीकरण के माध्यम से प्रस्तुत  किया तथा रिपोर्ट में पाई गई खामियों से अवगत कराते हुए उन्हें भविष्य में दूर करने हेतु सलाह दी.

 

 

टीएचडीसीआईएल, टिहरी के प्रभारी हिंदी, अपर महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.) ने मंच पर आसीन सभी विद्वत जनों को संबोधित करते हुए  टीएचडीसीआईएल की विभिन्न परियोजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी.  साथ ही उन्होंने निगम में चलाई जा रही राजभाषा कार्यान्वयन संबंधी गतिविधयों एवं कार्यकलापों पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला.  . उन्होंने यह भी बताया कि बैठक का आयोजन हमारे लिए गौरव की बात है तथा भविष्य में भी अपने उत्तरदायित्व को सफलतापूर्वक निर्वाह करने हेतु अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की.

 

 

 

सचिव, नराकास ने दिनांक 29.11.2016 को टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, टिहरी के सौजन्य से नराकास टिहरी के सदस्य कार्यालयों के अधिकारियों/कर्मचारिओं के लिए हिंदी निबंध/सुलेख प्रतियोगिता के आयोजन के बारे में जानकारी दी. हिंदी सुलेख प्रतियोगिता में श्री तेजेंद्र रावत, .अभियंता, टीएचडीसीआईएल,टिहरी- प्रथम, श्री समर्थ अग्रवाल, .प्रशा.अधिकारी, भा.जीवन बीमा निगम, .टिहरी- द्वितीय, श्री राम समुझ राम, प्र.सना.शिक्षक, केंद्रीय विद्यालय नई टिहरी- तृतीय स्थान पर रहे . हिंदी निबंध प्रतियोगिता में श्री रितेश सिंह, उप-प्रबंधक, टीएचडीसीआईएल,टिहरी- प्रथम, श्री वीपीएस रावत, अभियंता,टीएचडीसीआईएल,टिहरी-द्वितीय,श्री आदित्य मिश्र,वरि.अभियंता, टीएचडीसीआईएल,टिहरी- तृतीय स्थान पर रहे.  श्री समर्थ अग्रवाल, श्री नितिन चन्द्र पाण्डेय, श्री दीपक गुप्ता, श्री गणेश मिश्र, श्री वीपीएस रावत, श्री यशवंत सिंह नेगी, श्री नितिन चन्द्र पाण्डेय, श्री सुन्दरलाल को सांत्वना पुरस्कार से नवाजा गया. सभी विजेताओं को अध्यक्ष महोदय के कर कमलों द्वारा पुरस्कारों  से नवाजा गया.

        

 

बैठक की अध्यक्षता कर रहे श्री पी.पी.एसमान ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में बताया कि नराकास की अपनी सीमाएं हैं तथा सभी अधीनस्थ  कार्यालयों के प्रमुखों/सदस्यों के सहयोग एवं समन्वय से नराकास की गतिविधियों को चरम सीमा तक ले जाया जा सकता है.  राजभाषा विभाग, भारत सरकार ने हमें जो उत्तरदायित्व सौंपा है उसे हम अपने स्तर से तथा आप सबके सहयोग से पूरा कर पा रहे हैं. विभिन्न प्रकार की हिंदी प्रतियोगितायों को सुचारू रूप से कार्यान्वित करने हेतु हम हमेशा तत्पर हैं. उन्होंने नराकास में सदस्य संस्थानों की उपस्थति को लेकर चिंता व्यक्त की. उन्होंने हिंदी भाषा के संरक्षण तथा राजभाषा के नीतियों की समीक्षा पर भी बल दिया. 

 

 

बैठक की कार्यवाही के अंतिम सोपान में टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के उप-प्रबंधक (हिंदी) श्री नेगी ने मंच पर आसीन श्री पी.पी.एस. मान, श्रीमती प्रतिभा मलिक, श्री सी.मिंज एवं नराकास के कार्यालयाध्यक्षों एवं पुरस्कार विजेताओं के प्रति अपना अमूल्य समय देने एवं उपस्थिति हेतु आभार व्यक्त किया तथा सभी उपस्थित प्रबुद्ध जनों को टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड का आतिथ्य सत्कार स्वीकार करने हेतु बहुत-बहुत धन्यवाद दिया.

 

 

सभी सम्मानीय सदस्यों ने टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के द्वारा किए गए बैठक के सफलतापूर्वक आयोजन एवं आतिथ्य सत्कार की भूरि-भूरि प्रशंसा की.

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC, Rishikesh.