टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड टिहरी में धूमधाम से मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस

टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड टिहरी में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस धूमधाम से मनाया गया। सर्वप्रथम महिला दिवस कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि महाप्रबन्धक(स्टेज प्रथम) श्री मुहरमणि, अपर महाप्रबन्धक(का.एवं प्र.) श्री सी. मिंज, उपजिलाधिकारी देवप्रयाग श्रीमती नुपूर वर्मा, सहायक निदेशक(मतस्य)श्रीमती अल्पना हल्दिया, मुख्य चिकित्साधिकारी टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड डा0 नवनीत किरन, डा0 नमीता डिमरी द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

मुख्य अतिथि महाप्रबंधक(स्टेज प्रथम) श्री मुहर मणि द्वारा उपस्थित सभी महिलाओं को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई देते हुये कहा कि सर्वप्रथम महिलायें अपने मन से, दिल से अपने को मजबूत बनाए एवं अपनें साथ होने वाले दुर्रव्यवहार का पूरजोर तरीके से विरोध करें एवं अपनी सुरक्षा हेतु सभी कानूनी जानकारी रखें। उन्होनें कहा कि हमारे संविधान में महिला सुरक्षा हेतु कड़े कानून बनाए गये हैं। सभी महिलाओं को अपनी सुरक्षा के प्रति जागरूक रहने के साथ सभी कानूनी जानकारी प्राप्त करनी चाहिये। महिला सम्मान सबसे बड़ा सम्मान होता है। उन्होनें कहा कि जहां महिलाओं का सम्मान होता है वहां देवता वास करते हैं इसलिये महिलाओं को समाज में उच्च स्तर का दर्जा दिया गया है। जिन क्षेत्रों में आज तक पुरूषो का अधिपत्य रहता था उन क्षेत्रों में महिलाओं ने अपनी भागीदारी बना दी है। आज महिलायें लोकतंत्र के चारों स्तम्बों के साथ विभिन्न क्षेत्रों में अपनी अहम भागीदारी अदा कर रही है, उन्होनें माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के ‘‘बेटी बचाओं,बेटी पढ़ाओं’’ का पूर्ण समर्थन करते हुए कहा कि हमें उनकी बातों का अनुसरण करना चाहिए।

 

अपर महाप्रबन्धक(का.एवं प्र.) ने उपस्थित सभी महिलाओं को महिला दिवस की बधाई दी और कहा कि महिलाओं को सुरक्षित रहने हेतु साहासिक कदम उठाने पड़ेगें, अपने सम्मान को समझे और अपनी सुरक्षा हेतु अपने अधिकारों को जानें। महिलाये विश्व स्तर पर अपनी दक्षता का परिचय दे चुकी हैं और आज हमारे देश के उच्च पदों पर महिलाये पदासीन हैं, हमें गर्व है कि आज महिलाये विभिन्न स्तरों पर सामाजिक, राजनैतिक, तकनीकी, विज्ञान, चिकित्सा, शिक्षा, खेल एवं नौकरी के क्षेत्र में उच्च पदों पर रहते हुए हमारे देश का नेतृत्व कर रही है।

 

संकायाध्यक्षा श्रीमती नुपूर वर्मा उपजिलाधिकारी, देवप्रयाग द्वारा कहा गया कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का मूल उद्देश्य महिलाओं को सम्मान देना और महिलाओं को अपने अधिकारों के बारे में जानकारी देना है। जन्म से लेकर अन्तिम क्षण तक कानून उनकी सुरक्षा हेतु साथ है बस उन्हे हिम्मत के साथ सुरक्षा हेतु कानून की जानकारी होनी चाहिए और अपने अधिकारों की प्रति जागरूक होना चाहिए और विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करते हुए देश के विकास में अहम भूमिका निभानी है।

सहायक निदेशक(मतस्य) श्रीमती अल्पना हल्दिया ने उपस्थित सभी महिलाओं को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई दी उन्होनें कहा कि जो महिलायें कार्यालयों में कार्य कर रही हैं कार्य-स्थलों में कार्यरत महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न जैसी घटनायें होती रहती है। उन्होनें महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न की घटनाओं की निन्दा करते हुये यौन उत्पीड़न से सुरक्षित रहने की जानकारी महिलाओं को दी एवं इससे सम्बन्धित शिकायत को जिला स्तर पर महिला प्रकोष्ठ का जो गठन किया गया है वहां पर यौन उत्पीड़न से पीड़ित महिला अपना पक्ष रख सकती है उन्होनें यौन उत्पीड़न से सम्बन्धित विस्तृत कानूनी जानकारी भी उपस्थित महिलाओं को दी।

 

मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 नवनीत किरन ने महिलाओं की सुरक्षा एवं समाज में महिलाओं के योगदान पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला। उन्होनें भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री स्व0 श्रीमती इन्दिरा गांधी, प्रथम महिला राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा पाटिल, अतंरिक्ष यात्री स्व0 कल्पना चावला, प्रथम महिला आई0पी0एस0 श्रीमती किरन बेदी, खेलों के क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा, बैडमिंटन के क्षेत्र में साईना नेहवाल, क्रिकेटर की मिथाली राज आदि महिलाओं को याद करते हुये उनके योगदान से उपस्थित महिलाओं को अवगत कराया।

 

महिला दिवस के अवसर पर सभी महिलाओं ने महिला सम्मान महिला सुरक्षा एवं अपने अधिकारों एवं कर्तव्यों के बारें में विस्तृत चर्चा की साथ ही महिलाओं द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम, महिला सुरक्षा से सम्बन्धित कविताओं के द्वारा महिला सुरक्षा एवं सम्मान के प्रति जागरूकता पैदा की। जिससे सभी उपस्थित महिलाओं द्वारा खूब सराहा गया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 नमिता डिमरी, डा0 कुसुम त्रिवेदी, प्रबन्धक(का.एवं प्र.) श्री एस0के0 शर्मा, उप प्रबन्धक(हिन्दी) श्री इन्द्रराम नेगी, वरिष्ठ जनसम्पर्क अधिकारी श्री मनबीर सिंह नेगी, गोवर्धन नौटियाल, श्री सुरेश वर्मा, श्रीमती नीरज सिंह, श्रीमती अमिता पंवार, श्रीमती उर्मिला सैनी, श्रीमती सरला डबराल, श्रीमती मधु हेलन, श्रीमती मंजू नेगी, श्रीमती माया व्यास, कु0 ममता सहित बड़ी संख्या में महिला एवम् पुरुष, अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन हिन्दी पर्यवेक्षक श्रीमती नीरज सिंह ने किया।

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC, Rishikesh.