टीएचडीसीआईएल ने भारत सरकार व उत्तार प्रदेश सरकार को वित्तo वर्ष 2016-17 का अंतरिम लाभांश दिया

टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड (टीएचडीसीआईएल) ने वित्‍त वर्ष 2016-17 की वित्‍तीय उपलब्‍धियों के आधार पर अंतरिम लाभांश भारत सरकार को रूपये 104.98 करोड़ तथा उत्‍तर प्रदेश सरकार को रूपये 36.91 करोड़ दिये हैं।  श्री डी.वी. सिंह, अध्‍यक्ष एवं प्रबन्‍ध निदेशक, टीएचडीसीआईएल द्वारा लाभांश  से संबंधित पे आर्डर श्री पीयूष गोयल माननीय राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) विद्युत, कोयला, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा, खान, भारत सरकार को  21 मार्च, 2017 को विद्युत मंत्रालय, नई दिल्‍ली में दिया गया। इस अवसर पर श्री पी.के. पुजारी सचिव (ऊर्जा) व सुश्री अर्चना अग्रवाल, संयुक्‍त सचिव (हाईड्रो), विद्युत मंत्रालय तथा टीएचडीसीआईएल के निदेशक (वित्‍त) श्री श्रीधर पात्र व टीएचडीसीआईएल एवं मंत्रालय के  अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी  भी उपस्‍थित रहे।

 

उल्‍लेखनीय है कि श्री डी.वी.सिंहअध्‍यक्ष एवं प्रबन्‍ध निदेशक टीएचडीसीआईएल द्वारा  रूपये 36.91 करोड़ अंतरिम लाभांश से संबंधित पे आर्डर श्री संजय अग्रवाल, प्रमुख सचिव (ऊर्जा) उत्‍तर प्रदेश सरकार व उत्‍तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन के अध्‍यक्ष  को 22 मार्च, 2017 को लखनऊ में दिया गया। इस अवसर पर टीएचडीसीआईएल के निदेशक (वित्‍त)श्री श्रीधर पात्र व टीएचडीसीआईएल एवं सचिवालय के अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी भी उपस्‍थित रहे।

 

टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, भारत सरकार व उत्‍तर प्रदेश सरकार का संयुक्‍त उपक्रम है। इसमें भारत सरकार की 75% तथा उत्‍तर प्रदेश सरकार की 25% की सहभागिता है।  

 

टीएचडीसीआईएल वर्तमान में उत्‍तराखंड के टिहरी गढ़वाल क्षेत्र में टिहरी एच.पी.पी. से 1000 मेगावाट तथा कोटेश्‍वर एच..पी. से 400 मेगावाट हाइड्रो पावर का उत्‍पादन कर रहा है। इसके अतिरक्‍त गुजरात के पाटन जिले में 50 मेगावाट पवन ऊर्जा का   विद्युत उत्‍पादन हो रहा है । इस प्रकार कॉरपोरेशन वर्तमान में कुल 1450 मेगावाट बिजली का उत्‍पादन कर रहा है। कॉरपेोरेशन द्वारा वर्तमान वित्‍त वर्ष में 31 मार्च, 2017 तक कुल 4460 मिलियन युनिट विद्युत उत्‍पादन संभावित है। कॉरपोरेशन थर्मल व सौर ऊर्जा के क्रियान्‍वयन के क्षेत्र में भी प्रयासरत है ।

 

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC, Rishikesh.