टीएचडीसीआईएल ने गुजरात के द्वारिका में 63 मेगावाट के पवन ऊर्जा परियोजना की सफल कमीशनिंग की

ऋषिकेश- 01.04.2017:  टीएचडीसी इंडिया लिमिटड (टीएचडीसीआईएल) ने  31 मार्च, 2017 को गुजरात के द्वारिका जिले में 63 मेगावाट (30@2.1 मेगावाट) क्षमता वाली पवन ऊर्जा परियोजना की सफलतापूर्वक कमीशनिंग की है।

 

उल्‍लेखनीय है कि 28 नवम्‍बर, 2016 को इस पवन ऊर्जा परियोजना का कार्य मैसर्स सुजलॉन इनर्जी लिमिटड को अवार्ड किया गया था  जिसे 04  महीने में पूर्ण करने का लक्ष्‍य था।  दिसम्‍बर, 2016 में गुजरात सरकार द्वारा Developer Permission तथा Transfer Permission दिये जाने के बाद  इस परियोजना को  03 महीने के रिकार्ड समय में कमीशन कर लिया गया है।

 

63 मेगावाट की इस परियोजना में हाईब्रिड मॉडल के 2.1 मेगावाट क्षमता वाले 30 विंड जनरेटर टरबाईन हैं जिसकी ऊंचाई 120 मीटर है। यह परियोजना टीएचडीसीआईएल के इतिहास में अब तक की सबसे कठिन परियोजनाओं में से एक है जिसे श्री डी.वी. सिंह, अध्‍यक्ष एवं प्रबन्‍ध निदेशक के कुशल नेतृत्‍व में सफलतापूर्वक पूरा किया लिया गया है। 31 मार्च, 2017 को इस परियोजना की सफलतापूर्वक कमीशनिंग के साथ ही टीएचडीसीआईएल ने भारत सरकार द्वारा दिये जाने वाली 63 करोड़ की Generation Based Incentive (GBI)  को प्राप्‍त करने की पात्रता पूर्ण कर ली है । इस ऐतिहासिक उपलब्‍धि के साथ ही टीएचडीसीआईएल की कुल संस्‍थापित क्षमता 1513 मेगावाट हो गयी है।  

 

टिहरी व कोटेश्‍वर जल विद्युत परियोजनाओं तथा गुजरात के पाटन व द्वारिका में पवन ऊर्जा परियोजनाओं की कमीशनिंग के उपरांत टीएचडीसी की कुल संस्‍थापित क्षमता 1513 मेगावाट  हो गयी है। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड देश का प्रमुख विद्युत उत्‍पादक संस्‍थान होने के साथ ही एक मिनी-रत्‍न (कटेग्री-प्रथम) व शेड्यूल दर्जा प्राप्‍त संस्‍थान है।  

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC, Rishikesh.