नेपाल एवम् भारत के प्रतिष्ठित व्यक्ति समूह का टिहरी बाँध परियोजना का निरीक्षण

दिनांक 31/05/2017 को नेपाल-भारत सम्बन्धों के लिए प्रतिष्ठित सयुंक्त व्यक्ति समूह का एक प्रतिनिधिमण्डल टिहरी बाँध के निरिक्षण हेतु टिहरी पंहुचा। टिहरी बाँध परियोजना के व्यू प्वाइंट पहुंचने पर टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड के अधिशासी निदेशक(टी.सी.) श्री पी.पी.एस. मान, महाप्रबन्धक(स्टेज प्रथम) श्री मुहरमणि, महाप्रबन्धक(के.एच..पी.) श्री पी.के. अग्रवाल, अपर महाप्रबन्धक प्रभारी(पी.एस.पी.) श्री के.पी. सिंह, अपर महाप्रबन्धक(का.एवं प्रशा.) श्री सी. मिन्ज, अपर महाप्रबन्धक प्रभारी नियोजन/यांत्रिक/पुनर्वास/समन्वय श्री यू.के. ठाकुर,एवं जिलाधिकारी टिहरी श्रीमती सोनिका, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक टिहरी श्रीमती विमला गुंजियाल द्वारा गुलदस्ता प्रदान कर उनका स्वागत किया गया। उक्त प्रतिनिधिमण्डल ने व्यू प्वाइंट से टिहरी बाँध, स्पिलवे एवं जलाशय को देखा।

 

अधिशासी निदेशक(टी.सी.) श्री पी.पी.एस. मान एवं अपर महाप्रबन्धक (प्रभारी)नियोजन/ यांत्रिक/पुनर्वास/समन्वय श्री यू.के. ठाकुर ने उक्त प्रतिनिधिमण्डल को टिहरी बाँध निर्माण के विभिन्न कार्यस्थलों एवम् पहलुओं की जानकारी उपलब्ध कराई। ततपश्चात प्रतिनिधिमण्डल टिहरी बाँध के भूमिगत पावर हाऊस के निरिक्षण करने हेतु पंहुचा। भूमिगत पावर हाऊस में महाप्रबन्धक स्टेज प्रथम श्री मुहरमणि द्वारा प्रतिनिधिमण्डल को विद्युत उत्पादन, संचालन एवं विद्युत आपूर्ति से सम्बन्धित जानकारी प्रदान की। भूमिगत पावर हाऊस के निरिक्षण के पश्चात प्रतिनिधिमण्डल टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड के अतिथिगृह पहुंचा, अतिथिगृह पहुंचने पर अतिथिगृह के सभागार में भारत - नेपाल प्रतिनिधिमण्डल एवं टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड के अधिकारियों के साथ एक बैठक हुई जिसमें नेपाल और भारत में जलविद्युत क्षेत्र के निर्माण में भारत और नेपाल के प्रतिनिधिमण्डल एवं टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड के अधिकारियों के बीच चर्चा हुई। इस बैठक में टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड के अपर महाप्रबन्धक प्रभारी नियोजन/यांत्रिक/पुनर्वास/समन्वय श्री यू.के. ठाकुर द्वारा टिहरी बाँध के निर्माण एवं पुनर्वास सम्बन्धी तकनीकी पहलुओं की जानकारी एक प्रस्तुतिकरण के माध्यम से प्रतिनिधिमण्डल को प्रदान की गई। उल्लेखनीय है कि भारत और नेपाल की सीमा पर पंचेश्वर बाँध का निर्माण किया जाना है, ताकि उसके निर्माण में भी टिहरी बाँध में अपनाई जाने वाली तकनीक वहां पर प्रयोग में लाई जा सके। भारत और नेपाल अपने में मित्र देश हैं, मित्र देश होने के साथ-साथ मित्रता की भावना निभाते आ रहे हैं

 

उक्त प्रतिनिधिमण्डल में भारत की तरफ से माननीय सांसद श्री भगत सिंह कोश्यारी (सह अध्यक्ष), श्री जयन्त प्रसाद महानिदेशक रक्षा अध्ययन एवं विशलेषण संस्थान नई दिल्ली, प्रो. महेन्द्र पी. लामा जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय दिल्ली, श्री बी.सी. उप्रेती जयपुर विश्वविद्यालय में दक्षिण एशिया के अध्ययन कर्यक्रम के पूर्व निदेशक, श्री राजर्षि राय इस समिति के सचिव एवं नेपाल की तरफ से श्री बेख बहादुर थापा, पूर्व वित्त एवं विदेश मंत्री नेपाल सरकार एवम् इस समिति के सह-अध्यक्ष, श्री नीलाम्बर आचार्य पूर्व मंत्री नेपाल सरकार, श्री एस.के. उपाध्याय पूर्व सचिव नेपाल सरकार, डा. रंजना भट्टाराई सांसद, एवम समिति के सचिव श्री खनाल थे

 

इस अवसर पर अपर महाप्रबन्धक इलैक्ट्रो मैकेनिकल/विद्युत श्री एस.एस. पंवार, अपर महाप्रबन्धक(बाँध) श्री अतुल कपूर, उप महप्रबन्धक(.एण्ड एम.) श्री आर.आर. सेमवाल, उप प्रबन्धक(विधि) का.एवं प्रशा. श्री मनोज राय, वरिष्ठ जनसम्पर्क अधिकारी श्री मनबीर सिंह नेगी आदि उपस्थित थे। उक्त प्रतिनिधिमण्डल द्वारा टिहरी बाँध निर्माण की सराहना की गई।

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC, Rishikesh.