सेवा-टीएचडीसी और इनर्जी इफीसिऐंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) के मध्‍य समझौता ज्ञापन

ऋषिकेश, 14 जुला, 2017: ऋषिकेश और हरिद्वार में गंगा घाट में महत्वपूर्ण संरचनाओं को उजागर करने और प्रकाश व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के लिए सेवा-टीएचडीसी (टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड कंपनी की प्रायोजित सोसाइटी) ने इनर्जी इफीसिऐंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) के साथ दिनांक 12 जुलाई, 2017 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये।

प्रथम चरण में मुख्य रूप से राम झुला के दोनों सिरों पर हाई मास्‍ट एलईडी लाइट का काम और राम झूला पर  हाई मास्ट, अर्ध हाई मास्ट और फेकेड लाइट सहित गंगा नदी पर राम झुला से परमार्थ निकेतन के मध्‍य और परमार्थ निकेतन गंगा आरती क्षेत्र को रोशन किया जाएगा। यह न केवल लाखों राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय तीर्थयात्रियों / आगंतुकों को सुविधा देगा बल्कि पवित्र गंगा नदी के ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व को भी उजागर करेगा।

टीएचडीसीआईएल की ओर से श्री एच.एल. भराज, मुख्य महाप्रबंधक एवं अध्यक्ष सेवा-टीएचडीसी, श्री शैलेंद्र  सिंह, अपर महाप्रबन्‍धक और उपाध्‍यक्ष सेवा-टीएचडीसी, श्री कौशल कुमार सिंघल, उप महाप्रबन्‍धक  और सचिव सेवा-टीएचडीसी, श्री विजय सहगल, उप महाप्रबन्‍धक (एस.एंड ई.) और इनर्जी इफीसिऐंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल)  से श्री तरुण तयाल अपर  महाप्रबन्‍धक (बी.डी.) उपस्‍थित थे

इनर्जी इफीसिऐंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) एनटीपीसी लिमिटेड, पीएफसी, आरईसी और पावर ग्रिड का एक संयुक्त उद्यम है जो ऊर्जा दक्षता परियोजनाओं को कार्यान्वयन की सुविधा प्रदान करता है।

आज, टीएचडीसीआईएल 1513 मेगावॉट की स्थापित क्षमता के साथ देश के प्रमुख बिजली उत्‍पादकों में से एक है। जिसमें टिहरी बांध और एचपीपी (1000 मेगावॉट) की स्थापना के साथ, कोटेश्वर एचईपी (400 मेगावॉट) और गुजरात में द्वारका 63 मेगावाट और पाटन में 50 मेगावाट की पवन ऊर्जा परियोजनाएं शामिल हैं।

 

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC, Rishikesh.