टीएचडीसी में हर्षोल्‍लास से मनाया गया गया 30वां स्‍थापना दिवस

12 जुलाई को टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड (टीएचडीसीआईएल) का 30वां स्‍थापना दिवस  हर्षोल्‍लास के साथ कॉरपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश सहित सभी परियोजना व यूनिट कार्यालयों में मनाया गया। श्री डी.वी. सिंह, अध्‍यक्ष एवं प्रबन्‍ध निदेशक ने गंगा भवन प्रांगण में सुबह 10:00 बजे टीएचडीसीआईएल का ध्‍वज फहराकर समारोह का विधिवत शुभारम्‍भ किया। इस अवसर पर निदेशक (कार्मिक) श्री एस.के. विश्‍वास, निदेशक (वित्‍त) श्री श्रीधर पात्रा, महाप्रबन्‍धक (कार्मिक एवं प्रशासन/कॉरपोरेट संचार) श्री विजय गोयल, टीएचडीसी के भूतपूर्व वरिष्‍ठ अधिकारियों के साथ वर्तमान    वरिष्‍ठ व कनिष्‍ठ अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्‍थित रहे।

 

इसके उपरांत रसमंजरी सभागृह, ऋषिकेश में उपस्‍थित जनसमूह को सम्‍बोधित करते हुए कहा कि आप सबकी कडी मेहनत, लगन व परिश्रम के फलस्‍वरूप कॉरपोरेशन 1513 मेगावाट विद्युत का उत्‍पादन कर रही है। इसमें 1400 मेगावाट जल विद्युत शक्‍ति तथा 113 मेगावाट पवन ऊर्जा का योगदान है। श्री सिंह ने इस बात पर भी विशेष बल देते हुए कहा कि कर्म का स्‍थान विश्‍व में ऊपर है, आईये, हम सब मिलकर संकल्‍प लें कि हम सब अपने-अपने कर्तव्‍यों का निर्वाह करते हुए कॉरपोरेशन को विकास के शिखर तक पहुंचायेंगे। उन्‍होंने टीएचडीसी परिवार के सदस्‍यों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए संस्‍था के उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना की।

 

टीएचडीसी के रसमंजरी सभागृह, ऋषिकेश में प्रिंस डांस ग्रुफ द्वारा फ्लैग डांस, दुर्गा एक्‍ट व गणेश एक्‍ट, बधाणी सांस्‍कृतिक समिति द्वारा वीर नृत्‍य, पाण्‍डव नृत्‍य व रणभूत नृत्‍य तथा कनक कला केन्‍द्र द्वारा क्‍लासिकल डांस के साथ मेघदूतम सांस्‍कृतिक कार्यक्रम प्रस्‍तुत किये । इस दौरान टीएचडीसी की उपलब्‍ध्‍िायों से संबंधित एक विडियो प्रदर्शित किया गया। स्‍थापना दिवस के अवसर पर टीएचडीसी अवार्ड एवं रिवार्ड स्‍कीम के अंतर्गत विजेता अधिकारियों व कर्मचारियों को पुरस्‍कृत किया गया। 

 

 उल्‍लेखनीय है कि 12 जुलाई, 1988 को टीएचडीसी की स्‍थापना भारत सरकार व उत्‍तर प्रदेश के संयुक्‍त उपक्रम में की गयी थी।  वर्तमान में टिहरी व कोटेश्‍वर जल विद्युत परियोजनाओं तथा गुजरात के पाटन व द्वारिका में पवन ऊर्जा परियोजनाओं की कमीशनिंग के उपरांत टीएचडीसी की कुल संस्‍थापित क्षमता 1513 मेगावाट  हो गयी है। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड देश का प्रमुख विद्युत उत्‍पादक संस्‍थान होने के साथ ही एक मिनी-रत्‍न (कटेग्री-प्रथम) व शेड्यूल दर्जा प्राप्‍त संस्‍थान है।                

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC, Rishikesh.